Updates

महायज्ञ के आयोजन हेतु सम्पर्क करे l

The temple has various well maintained rooms.
Visitors wishing to stay at Adbhut Temple should send an email to adbhutmandir@gmail.com one week in advance to check on the availability of accommodation. Emails are instantly acknowledged. Please check your spam folder also for the auto reply from ...

Read More

Testimonials

2 months ago
One of the best place I ever Shaw at least better than bharat Mata mandir.. Visit here you all definitely like this place that's all I want to say... Tng to the pandit ji who guide us very well to the and it's free of cast 🙏🏼
- HANUMAN Y
a year ago
Located outside the city rush the temple has a unique spiritual charm. Being here is very blissful because one gets to know a lot of things about the Vedic culture. It took 17 years to construct this magnificent and beautiful temple.
- Yash H
2 days ago
Excellent piece of art and spirituality
SuccessDotCom

About us

यह मन्दिर द्वारका शारदा पीठाधीश्वर जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी अच्युतानन्द तीर्थ ने वर्ष 2000 में बनवाना प्रारम्भ किया था ।इस मंदिर का विशाल भवन एवं अद्भुत भवन लगभग 3 एकड भूमि में बनाया गया ।श्रद्धालुओं के दर्शन हेतु स्फटिक के पर्वत से निर्मित हिमालय में शिव -पार्वती की मूरत स्थापित है।मंदिर की गैलरी में सनातन धर्म मे प्रचलित विभिन्न 'तिलक' भी पत्थरो पर दिखाये हैं तथा दूसरी ओर तन्त्रों-मन्त्रों के प्रसार को पत्थरों खुदवाकर प्रदर्शित किया गया है।
गैलरी में दुर्लभ समुन्द्र तल खनिज, जो स्वयं महाराज श्री द्वारा अण्डमान निकोबार ,मुम्बई आदि से लाकर प्रर्दशन हेतु रखे गए हैं।परिसर को प्राकृतिक रूप से सजाने के लिये विभिन्न प्रकार के वृक्ष लगाये गये है एवं घास के मैदान बनायें गये हैं।चारो धाम के मन्दिरो के प्रतीकों को भी सरस्वती रूप से दर्शनाथ मन्दिर में बनाये गये हैं।मन्दिर में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए आवासीय व्यवस्था भी की गयी हैं।
मंदिर के नीचे तल पर आदि जगद्गुरु शंकराचार्य एवं ब्रह्मलीन स्वामी भूमानंद तीर्थ जी के स्वर्ण पघको से बने चित्र लगाए गए हैं कृत्रिम छत पर विभिन्न प्रकार के रत्नों से जुड़े हुए सुंदर आकृति एवं पेन्टिंग से बनवाया गया है इस के मध्य में झरनों की व्यवस्था है जिसमें दोनों और गैलरी में बैठकर साधक साधना कर सके एवं झरने के जल की ध्वनि से उनका मन तरंगित और आनंदित हो सके। इस भवन के मुख्य द्वार पर श्री यंत्र का निर्माण है और एक द्वीप स्तम्भ बनाया गया है जो इसकी सुंदरता में चार चांद लगा रहा है द्वीप स्तम्भ के चारों ओर फव्वारे का निर्माण किया गया है जो आगन्तुकों को आनंदित आनंदित कर सके ।द्वार पर कमल पुष्पों का पर्वत है जिसके नीचे से मंदिर में प्रवेश किया जाता है।

Contact Us

Contact

Call now
  • 081910 02086

Address

Get directions
Unnamed Rd,
Haripur Kalan
Haridwar, Uttarakhand 249411
India

Opening Hours

Mon:6:00 am – 8:00 pm
Tue:6:00 am – 8:00 pm
Wed:6:00 am – 8:00 pm
Thu:6:00 am – 8:00 pm
Fri:6:00 am – 8:00 pm
Sat:6:00 am – 8:00 pm
Sun:6:00 am – 8:00 pm
Get quote
Message sent. We'll get back to you soon.